नगर पालिका का इतिहास

विकासनगर पूर्व में चोहड़पुर के नाम से जाना जाता था। वर्ष 1967 में श्री महावीर प्रसाद त्यागी द्वारा चोहड़पुर का नाम बदलकर विकासनगर घोषित किया गया। वर्ष 1973 पूर्व नगरपालिका परिषद् विकासनगर टाउन एरिया कमेटी, विकासनगर के नाम से प्रसिद्ध थी। टाउन एरिया कमेटी विकासनगर वर्ष 1968 से तीन वर्षों तक अवक्रमित् रहने के कारण इसमें प्रशासक नियुक्त रहे । वर्ष 1971 में चंदनलाल अग्रवाल जी प्रथम अध्यक्ष निर्वाचित हुए । वर्ष 1977 में शासन दवारा पुन: प्रशासक नियुक्त किये गए जो की निरंतर 11 वर्षों तक कार्यरत रहे । वर्ष 1988 में श्री राजकुमार अग्रवाल जी अध्यक्ष निर्वाचित हुए । वर्ष 1993 में श्री राजकुमार अग्रवाल जी आकस्मिक निधन के पश्चात श्री रामशरण चावला जी कार्यवाहक अध्यक्ष नियुक्त हुए। वर्ष 1994 से वर्ष 1997 तक शासन द्वारा पुन: प्रशासक नियुक्त किये गए । वर्ष 1997 से वर्ष 2002 तक पुन: श्री चंदनलाल अग्रवाल जी अध्यक्ष निर्वाचित हुए । वर्ष 2003 में श्रीमती रीना अग्रवाल जी अध्यक्ष निर्वाचित हुई जों की 14 फरवरी 2008 तक कार्यरत रहीं। वर्ष 2008 में श्रीमती शांति जुवांठा में अध्यक्ष निर्वाचित हुई । वर्ष 2013 में निर्वाचित नीरज अग्रवाल नगर पालिका अध्यक्ष थे। भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी हरफूल चन्द महावर ने नीरज अग्रवाल की चुनाव याचिका को न्यायालय में चुनौती दी थी। जिसमे सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार हरफूल चन्द महावर को नगर पालिका अध्यक्ष घोषित किया गया और वर्तमान में नगर पालिका अध्यक्ष हरफूल चन्द महावर  है।

Public Grievance Form

Select Your Ward No. (required)

Your Name (required)

Your Email (required)

Your Mobile (required)

Your Address

Subject

Your Message

Upload Attachment

Enter Captcha
captcha

  • The information of any birth/ death is given to the related wards on prescribed form within 21 days and then certificate is issued immediately free of cost by the person employed at Registration ward.
  • After 21 days till 30 days, the information has to be given as above on prescribed form to the related ward but now Rs2/- is charged as late fee.
  • After 30 days and till 1 year, a permission letter from Additional Health officer is to be presented for registration of birth/ death and a late fees of Rs5/- is to be paid. This information on prescribed form is submitted to the related ward according to the birth/ death place.
  • After 1 year delay, the order is to presented from deputy DM and a late fee of Rs10/- is payable. Now the registration of birth/ death is done at Head office, Health department.
Download Form Download Letter

नगर पालिका कार्यालय में परिवार रजिस्टर में नाम दर्ज न होने की दशा में आवेदक द्वारा प्रार्थना पत्र के साथ 10 Rs. के स्टाम्प पेपर पर शपथ पत्र देकर परिवार रजिस्टर में नाम दर्ज किया जाता है |

उपरोक्त कार्यवाही करने के बाद आवेदक को परिवार रजिस्टर की नकल निर्गत की जाती है |

Download Letter
Awareness Posters

Verification of Tenants & Salesman in Police Station

Look after your children for Bad Habits

Give helmets to your children